Sunday, June 23, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeखेलपहलवानों पर बृजभूषण का विवादित बयान, कहा छुआछूत का है ये मुकदमा

पहलवानों पर बृजभूषण का विवादित बयान, कहा छुआछूत का है ये मुकदमा

दिल्ली: बीजेपी सांसद और कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ पहलवानों का जंतर मंतर पर एक महीने से धरना जारी है. इसी बीच बृजभूषण शरण सिंह का विवादास्पद बयान सामने आया है. बृजभूषण शरण ने कहा, ये मुकदमा छुआछूत का है. सही छुआ, या गलत छुआ. छुआछूत का रोग लेकर देवियां (महिला पहलवान) आ गई हैं. उधर, पहलवान विनेश फोगाट ने बृजभूषण के छुआछूत वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि उनके घर में भी मां-बेटियां और महिलाएं हैं.

बृजभूषण शरण सिंह महाराणा प्रताप की जयंती समारोह पर मऊ में एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. यहां उन्होंने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, जो पहलवान प्रदर्शन कर रहे हैं, वे आज तक नहीं बता पाए कि कब हुआ, कहां हुआ, क्या – क्या हुआ, कैसे – कैसे हुआ?

पहलवानों का भी नार्को टेस्ट हो- बृजभूषण शरण सिंह
उन्होंने कहा, कल खाप पंचायत हुई थी, उसमें यह तय हुआ कि सांसद जी का नार्को टेस्ट करा लिया जाए. शाम को मैंने बोल दिया कि मेरा नार्को करा लिया जाए, साथ ही आरोप लगाने वाली खिलाड़ियों का भी नार्को टेस्ट कराया जाए, जिससे षड्यंत्रकारियों का पता लगाया जा सके. बृजभूषण शरण सिंह ने कहा, ये जो मुकदमा है, वह BAD TOUCH AND GOOD TOUCH का है. ये छुआछूत का मुकदमा है.

बृजभूषण सिंह ने विनेश को बताया मंथरा
बृजभूषण सिंह ने कहा, जैसे मंथरा ने रोल प्ले किया था. कैकेयी ने रोल प्ले किया था . वैसे ही विनेश फोगाट मेरे लिए मंथरा बनकर आई हैं. पहले हजारों पहलवान धरना दे रहे थे और अब सिर्फ 3 पति और 3 पत्नी धरना दे रहे हैं. हम इस मंथरा को भी धन्यवाद देंगे जब परिणाम आ जायेगा.

विनेश फोगाट ने किया पलटवार
बृजभूषण के बयान पर विनेश फोगाट ने पलटवार किया है. विनेश ने कहा, हम एक महीने से धरने पर बैठे हैं. बृजभूषण घर पर आराम से हैं. हम कठिनाइयों के बावजूद यहां हैं. वे सुप्रीम कोर्ट नहीं है कि फैसला करेंगे कि किसका नार्को होगा या नहीं. नार्को बृजभूषण का होना चाहिए, ताकि सच सामने आ जाए.

विनेश ने कहा, वे (बृजभूषण) महिलाओं का अपमान कर रहा है. ये सब छुआछूत की बात करके. उनके भी घर में मां, बेटी और लड़कियां है. अगर उनके साथ ऐसी घटना होती तो क्या वे छुआछूत की बात करते. वे महिलाओं का अपमान कर रहा है. वे टीवी पर महिलाओं का अपमान कर रहे हैं. तो सोचिए बंद कमरे में कैसे लड़कियों के साथ किस तरह बर्ताव करते होंगे?

23 अप्रैल से धरने पर पहलवान
विनेश फोगाट, साक्षी मलिक और बजरंग पूनिया समेत तमाम पहलवान जंतर मंतर पर 23 अप्रैल से धरना दे रहे हैं. इससे पहले 18 जनवरी को पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ धरना प्रदर्शन किया था. तब पहलवानों ने बृजभूषण शरण सिंह और कोच पर महिला पहलवानों का यौन उत्पीड़न, अभद्रता, क्षेत्रवाद जैसे गंभीर आरोप लगाए थे. हालांकि, खेल मंत्रालय के दखल के बाद पहलवानों ने अपना धरना खत्म कर दिया था. तब खेल मंत्रालय ने पहलवानों द्वारा लगाए जा रहे आरोपों की जांच के लिए कमेटी का गठन किया था. अब तीन महीने बाद पहलवान फिर धरना दे रहे हैं. पहलवानों ने अब कमेटी पर ही सवाल खड़े किए हैं. साथ ही बृजभूषण शरण सिंह की गिरफ्तारी की भी मांग की है.

अब नार्को टेस्ट चैलेंज पर पहुंची बात
पहलवानों ने बृजभूषण सिंह का नार्को टेस्ट कराने की मांग की है. इस पर पलटवार करते हुए बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने बड़ा बयान दिया. उन्होंने कहा, ”मैं अपना नार्को टेस्ट, पॉलिग्राफी टेस्ट या लाइ डिटेक्टर टेस्ट कराने के लिए तैयार हूं. लेकिन मेरी शर्त है कि विनेश फोगाट और बजरंग पूनिया का भी नार्को टेस्ट हो. अगर दोनों पहलवान अपना टेस्ट करवाने के लिये तैयार हैं, तो प्रेस बुलाकर घोषणा करें और मै उनको वचन देता हूं कि मैं भी इसके लिये तैयार हूं.”

इस पर पलटवार करते हुए विनेश फोगाट ने कहा, पहलवान नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं. सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में नार्को टेस्ट हो. जिन जिन लड़कियों ने शिकायतें की हैं, वे सब नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं. लेकिन यह लाइव होना चाहिए. बृजभूषण को हीरो न बनाया जाए. उसके खिलाफ 7 लड़कियों ने शिकायत दी है. जिन लड़कियों ने शिकायत दी है, वे नार्को टेस्ट के लिए तैयार हैं.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें