Monday, February 26, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडकेदारनाथ यात्रा सम्बंधित व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने यात्रा से...

केदारनाथ यात्रा सम्बंधित व्यवस्थाओं को लेकर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने यात्रा से जुड़े सभी अधिकारियों के साथ बैठक की

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ धाम की यात्रा तैयारियों को लेकर जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने यात्रा से जुड़े सभी अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित कर सभी व्यवस्थाओं को 15 अप्रैल तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करने के निर्देश दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता डीडीएमए को केदारनाथ धाम एवं पैदल ट्रेक रूट में कार्यों को अनिवार्य रूप से पूर्ण करने को कहा, जिसके लिए उन्होंने ट्रेक रूट पर रैलिंग कार्य एवं यात्री शेड कार्यों को समयबद्धता के साथ पूर्ण करने के निर्देश दिए।

डीएम ने सीतापुर एवं अन्य पार्किंग के लिए टेंडर प्रक्रिया माह मार्च के प्रथम सप्ताह तक अनिवार्य रूप से पूर्ण करने को कहा। साथ ही सुलभ इंटरनेशनल को यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में शौचालय का कार्य अप्रैल माह तक पूर्ण करने को कहा तथा शौचालयों की सफाई व्यवस्था के लिए पर्याप्त सफाई कर्मियों की तैनाती समय से करने के लिए आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि यात्रा मार्ग में संचालित होने वाले घोडे-खच्चरों के लिए एसओपी तैयार करते हुए सभी प्रक्रिया समय से पूर्ण कर ली जाए तथा यात्रा मार्ग में घोड़े-खच्चरों का ठीक ढंग से संचालन हो इसके लिए सभी कार्यवाही पूर्ण करने को कहा। उन्होंने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत से कहा कि केदारनाथ धाम में संचालित हो रहे डंडी-कंडी हाॅकरों के भी अनिवार्य रूप से परिचय-पत्र निर्गत किए जांए। बिना परिचय-पत्र के किसी भी दशा में डंडी-कंडी संचालकों, घोड़ा-खच्चरों हाॅकरों एवं मालिकों को यात्रा मार्ग में अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी।

बिना परिचय-पत्र के पाए जाने वालों के विरुद्ध नियमानुसार आवश्यक कार्यवाही अमल में लाई जाएगी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में जो भी स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी हैं, उन सभी की व्यवस्थाएं समय से पूर्ण कर ली जाएं तथा जल संस्थान को केदारनाथ धाम एवं यात्रा मार्ग में पानी की आपूर्ति सुचारू करने के साथ ही घोड़े-खच्चरों के लिए गरम पानी की चरियों की व्यवस्था को भी समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने यात्रा मार्ग में अवस्थित हैंडपम्पों की सूची उपलब्ध कराते हुए खराब हैंडपम्पों का मरम्मत कार्य शुरू करते हुए पेयजल आपूर्ति सुचारू करने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में विद्युत व्यवस्था दुरूस्त रखने तथा स्ट्रीट लाईट के संबंध में अधिशासी अभियंता विद्युत एवं उरेडा को के निर्देश दिए। उन्होंने केदारनाथ एवं यात्रा मार्ग में आवासीय व्यवस्था के लिए जीएमवीएन को समय से कार्य पूर्ण करने को कहा। यात्रा मार्ग में संचार व्यवस्था दुरूस्त रखने को भी कहा।

जिला पूर्ति अधिकारी को यात्रा शुरू होने से पूर्व यात्रा मार्ग एवं केदारनाथ धाम में खाद्य पदार्थों की रेट सूची अनिवार्य रूप से लगाए जाने के लिए समय से आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। साथ ही यात्रा मार्ग में पर्याप्त मात्रा में पेट्रोल-डीजल की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाए। उन्होंने केदारनाथ धाम में अलाव जलाने के लिए लकड़ी की व्यवस्था भी समय से करने को कहा। सहायक परिवहन अधिकारी को निर्देश दिए कि शटल व्यवस्था के लिए आवश्यक कार्मिकों की तैनाती समय से की जाए। यात्रा मार्ग में यातायात व्यवस्था एवं सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस अधीक्षक को प्लान तैयार करने को कहा। बैठक में पुलिस अधीक्षक डाॅ विशाखा अशोक भदाणे, प्रभागीय वनाधिकारी इंद्र सिंह नेगी, मुख्य विकास अधिकारी नरेश कुमार, अपर जिलाधिकारी दीपेंद्र सिंह नेगी, अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेंद्र सिंह, उप जिलाधिकारी ऊखीमठ जितेंद्र वर्मा, रुद्रप्रयाग अपर्णा ढौंडियाल, जखोली परमानंद राम, जिला विकास अधिकारी मनविंदर कौर, पुलिस उपाधीक्षक प्रबोध कुमार घिल्डियाल, हर्षवर्धनी सुमन, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. एच.सी.एस. मार्तोलिया, पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ. आशीष रावत, अधिशासी अभियंता डीडीएमए प्रवीण कर्णवाल, पर्यटन अधिकारी सुशील नौटियाल, अधिशासी अभियंता जल संस्थान संजय सिंह, जल निगम नवल कुमार, जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें