Sunday, May 26, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeअन्यउत्तराखण्डः वैदिक परंपराओं के साथ हरिद्वार में शुरू हुआ संन्यास दीक्षा कार्यक्रम!...

उत्तराखण्डः वैदिक परंपराओं के साथ हरिद्वार में शुरू हुआ संन्यास दीक्षा कार्यक्रम! योग गुरू बाबा रामदेव ने 100 युवाओं को दी दीक्षा, समारोह में शामिल हुए संघ प्रमुख भागवत

हरिद्वार। योगगुरू बाबा रामदेव ने हरिद्वार के वीआईपी घाट में संन्यास दीक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ वैदिक परंपराओ के साथ किया। इस दौरान ब्रह्मचारी श्वेत वस्त्र धारण करके गंगा तट पर पहुंचे, जहां बाबा रामदेव और ब्रह्मचारी युवाओं का पुष्प वर्षा कर जोरदार स्वागत किया गया। इस अवसर पर कर्मचारियों को गंगा में स्नान कराया गया और उनका मुंडन किया गया उसके बाद उन्हें सन्यास दीक्षा दी गई। खबरों की मानें तो कार्यक्रम में 100 युवाओं को दीक्षा दी गयी। इस दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत भी कार्यक्रम में मौजूद रहे। वहीं आज शाम को 4 बजे पतंजलि योगपीठ में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह संन्यासियों से रूबरू होंगे और वे पतंजलि विश्वविद्यालय के मुख्य भवन का शिलान्यास भी करेंगे। योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण के सानिध्य में आयोजित द्वितीय संन्यास दीक्षा महोत्सव सम्मिलित होने वीरवार देर शाम हरिद्वार पहुंचे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने कहाकि सनातन आ रहा है, ऐसा भजन में था, तो ये सनातन कहां से आ रहा है और वह कब गया था, ऐसे कई प्रश्न लोग उठा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि सनातन आ रहा है, इसका अर्थ यह है कि सनातन कहीं गया नहीं था, वो पहले भी था और आज भी है, कल भी रहेगा। क्योंकि वह सनातन है और यही सनातन है। बस, अब उस सनातन की तरफ हमारा ध्यान जा रहा है। उसके अनेक लक्षण हैं, जो प्रकट हो रहे हैं। आजकल दुनिया में पश्चिम के विकास मॉडल के पुनर्विचार आवश्यकता पश्चिम के बुद्धिजीवी बता-जता रहे हैं, क्योंकि वह एक अधूरी दृष्टि पर आधारित है, उपभोग पर आधारित है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें