Sunday, May 26, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeअंतर्राष्ट्रीयजी20 शिखर सम्मेलन: जी-20 ने समझा इंडोनेशिया के नुसंतारा शहर का विकास...

जी20 शिखर सम्मेलन: जी-20 ने समझा इंडोनेशिया के नुसंतारा शहर का विकास मॉडल! इन मुद्दों पर हुई चर्चा

उत्तराखंड में टिहरी के नरेंद्रनगर में जी-20 तीसरी इंफ्रास्ट्रक्चर वर्किंग ग्रुप (आईडब्ल्यूजी) की बैठक में पहले दिन पहले दिन भविष्य के शहरों के मूलभूत ढांचागत विकास पर चर्चा की गई। इसमें प्रतिनिधियों ने इंडोनेशिया में दुनिया के सबसे महत्वाकांक्षी शहरों में से एक नए शहर नुसंतारा के विकास के मॉडल को समझा। बैठक में जी-20 सदस्य देशों, आमंत्रित देशों और अंतरराष्ट्रीय संगठनों के 63 प्रतिनिधियों ने चर्चा में हिस्सा लिया। बैठक में जी-20 के 16 देशों के प्रतिनिधियों ने प्रत्यक्ष रूप से, जबकि चार देशों के प्रतिनिधियों ने वर्चुअली बैठक में भाग लिया। सोमवार को नरेंद्रनगर स्थित होटल वेस्टर्न रिसॉर्ट में जी-20 की तीसरी बैठक शुरू हुई। इससे पूर्व अतिथियों को गर्मजोशी से स्वागत किया गया। उन्हें माथे पर तिलक और पुष्प वर्षा के साथ पहाड़ी टोपी पहनाई गई। पहले दिन दो सत्रों का आयोजन किया गया। इनमें मार्च 2023 में विशाखापत्तनम में दूसरी आईडब्ल्यूजी बैठक के दौरान हुई चर्चा को आगे बढ़ाया गया।

बैठक में भारतीय प्रेसीडेंसी और एशिया इंफ्रास्ट्रक्चर इन्वेस्टमेंट बैंक एआईआईबी की ओर से आयोजित सेमिनार में प्रतिनिधियों ने भविष्य के शहरों में निजी निवेश बढ़ाने, नीतियों को सरल बनाने और मजबूत ढांचागत विकास को बढ़ावा देने के विषयों पर चर्चा की। इसके अलावा प्राकृतिक चुनौतियों से लड़ने के लिए आपसी सामंजस्य पर बल दिया। इस दौरान एशियन इंफ्रास्ट्रक्चर इंवेस्टमेंट बैंक के साथ साझेदारी में भविष्य के शहरों का समावेशी विकास, प्रौद्योगिकी, इंफ्राटेक और डिजीटलीकरण की भूमिका पर चर्चा की गई। प्रतिनिधियों ने इंडोनेशिया में दुनिया के सबसे महत्वाकांक्षी शहरों में से एक नए शहर नुसंतारा के विकास के मॉडल को समझा। साइड इवेंट का प्रतिनिधित्व हार्वर्ड यूनिवर्सिटी, वर्ल्ड रिसोर्स इंस्टीट्यूट, सी-40 सिटीज़ और कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी के प्रतिष्ठित पैनलिस्ट ने किया। बांग्लादेश के ढाका के मेयर ने भी नगर पालिकाओं और शहरों को टिकाऊ और समावेशी बनाने की दिशा में अपने विचार साझा किए।
इसके बाद देर शाम प्रतिनिधियों ने रात्रि भोज में संवाद कार्यक्रम में भाग लिया। जहां उन्होंने उत्तराखंड की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत के दर्शन किए और स्थानीय व्यंजनों का आनंद उठाया। 27 को सुबह के सत्र में प्रतिनिधि योग रिट्रीट में भाग लेंगे जहां वे सुंदर प्राकृतिक नजारों के बीच कुशल योगाचार्यों के सानिध्य में योग करेंगे।

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें