Tuesday, April 23, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड में बदला मौसम का मिजाज, पहाड़ो पर पड़ी कड़ाके की ठंड

उत्तराखंड में बदला मौसम का मिजाज, पहाड़ो पर पड़ी कड़ाके की ठंड

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बदलने से लोगों को गर्मी से राहत मिली है. खासकर चमोली, पिथौरागढ़, टिहरी समेत कई पहाड़ी इलाकों में शनिवार को अचानक मौसम बदला और दोपहर के बाद झमाझम बारिश शुरू हो गई. इस बारिश से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली, तो वहीं बागवानी और खेती करने वाले किसानों को भी बड़ी राहत मिली है. दरअसल पहाड़ों में पिछले एक महीने से सूखे जैसी स्थिति पैदा हो गई थी,लेकिन इंद्रदेव के बरसते ही पहाड़वासियों को सूखे से राहत मिली है. मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में रविवार और सोमवार को भी बारिश और बर्फबारी का दौर जारी रहेगा.

वहीं, मौसम बदलते ही बद्रीनाथ धाम में कड़ाके की ठंड शुरू हो गई है. हालांकि चारधाम यात्रा पूरे जोरशोर से चल रही है और तीर्थयात्री लंबी-लंबी लाइनों में खड़े होकर भगवान बद्री विशाल के दर्शन कर रहे है, लेकिन बारिश ने बद्रीनाथ धाम में एक बार फिर लोगों को ठंड से बेहाल कर दिया है. यही नहीं, आज केदारनाथ धाम में बारिश के कारण हेलीकॉप्टर सेवा को श्रद्धालुओं के लिए रोक दिया गया है.

शनिवार को हेमकुंड साहिब में हल्की बारिश हुई, तो ऊंचाई वाले इलाकों में बर्फबारी देखने को मिली है. इस वक्‍त 15200 फीट की ऊंचाई पर स्थित हेमकुंड साहिब की चोटियों पर बर्फबारी हो रही है. जबकि गुरुद्वारे के आसपास भी हल्की बर्फबारी होने से हेमकुंड साहिब में भी ठंड बढ़ गई है.

मौसम बदलने के साथ-साथ चारों धाम की यात्रा भी जारी है. बारिश के बीच बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों की लंबी-लंबी कतारें देखी गईं, जिससे जाम की स्थिति भी पैदा हो गई. बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर जोशीमठ से आगे मारवाड़ी पुल और जोशीमठ से पहले सेंलग तक लगभग 2 घंटे तक लंबा जाम रहा, जिससे यात्रियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा. हालांकि इस दौरान पुलिस जाम खुलवाने में पूरी मुस्‍तैदी से लगी दिखाई दी.

बहरहाल, आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह के मुताबिक, सोमवार तक बारिश का दौर जारी रहेगा. वहीं, 20 जून से फिर गर्मी बढ़ने का अनुमान है. वहीं, जून के पहले हफ्ते में केरल में मॉनसून के पहुंचने के बाद मौसम वैज्ञानिक उम्मीद जता रहे थे कि प्रदेश में 20 तारीख से पहले मॉनसून पहुंच सकता है, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के कारण अब संभावना है कि जून के आखिर में या जुलाई के पहले हफ्ते तक मॉनसून उत्तराखंड में सक्रिय होगा.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें