Sunday, February 25, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड: विंटर डेस्टिनेशन के रूप में विकसित होंगे टिंबरसैंण महादेव, एस्ट्रो टूरिज्म-एयर...

उत्तराखंड: विंटर डेस्टिनेशन के रूप में विकसित होंगे टिंबरसैंण महादेव, एस्ट्रो टूरिज्म-एयर सफारी पर जोर

उत्तराखंड में एस्ट्रो टूरिज्म और एयर सफारी से पर्यटन को उड़ान मिलेगी। इस क्षेत्र में निवेश कर चुके निवेशकों ने अपने अनुभवों को साझा करते हुए पर्यटन क्षेत्र में निवेश की संभावनाओं बताया। पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने कहा, उत्तराखंड में योग, वेलनेस, हेली टूरिज्म, साहसिक पर्यटन में निवेश की काफी संभावनाएं है।

चमोली जिले के नीति घाटी में अमरनाथ की तर्ज की टिंबरसैंण महादेव में प्राकृतिक रूप से शिवलिंग बनता है। इस स्थान को विंटर डेस्टिनेशन के रूप में सरकार विकसित करेगी। निवेशक सम्मेलन में पर्यटन एवं नागरिक उड्डयन सत्र में पर्यटन क्षमताओं के विकास, हिमालयी क्षेत्रों में पर्यटन विकास में नागरिक उड्डयन की भूमिका, एस्ट्रो पर्यटन में निवेश संभावनाओं पर चर्चा की गई। पर्यटन मंत्री ने कहा, निवेशक सम्मेलन राज्य के विकास में मील का पत्थर साबित होगा। प्रदेश सरकार आध्यात्मिक, एस्ट्रो, ईको, मेडिकल, धार्मिक, साहसिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयास जारी है।
कहा केदारनाथ, बदरीनाथ की तर्ज पर आदि कैलाश और ओम पर्वत के निकट गुंजी को शिवनगरी के रूप में विकसित किया जा रहा है। भविष्य में कॉर्बेट के सीताबनी में टोटल एनिमल किंगडम के रूप में विकसित करने की योजना है। केदारनाथ और हेमकुंड साहिब को रोपवे से जोड़ा जा रहा है। इससे यात्रा सुगम होगी।

सचिव पर्यटन सचिन कुर्वे ने राज्य में बढ़ते पर्यटन अवसर की जानकारी देते हुए बताया, राज्य की जीडीपी में पर्यटन का 15 प्रतिशत योगदान है। वहीं, राष्ट्र की जीडीपी में छह प्रतिशत की भागीदारी है। उत्तराखंड वैश्विक स्तर पर टूरिज्म हब बन चुका है। हर साल प्रदेश में घरेलू और विदेशों पर्यटकों की संख्या बढ़ रही है। कहा सोलो वूमेन ट्रैवलर के लिए सर्वाधिक सुरक्षात्मक राज्य का खिताब भी उत्तराखंड को मिला है। पर्यटन और आतिथ्य क्षेत्र में निवेश को प्रोत्साहन करने के लिए नई पर्यटन नीति लागू की है। स्टार स्केप के संस्थापक रामाशीष रे ने एस्ट्रो टूरिज्म में अनुभवों का साझा किया। वे बागेश्वर जिले के कौसानी में एस्ट्रो टूरिज्म चला रहे हैं। कहा एस्ट्रो टूरिज्म के लिए उत्तराखंड सबसे शानदार जगह है। इंडियन होटल कंपनी लिमिटेड के क्षेत्रीय निदेशक कनिका हसरत ने उत्तराखंड में संभावनाओं, लॉकहीड मार्टिन से पार्थ पी राय ने पर्यटन में सिविल एविएशन की भूमिका पर जानकारी दी। राजस एयरो स्पोर्ट्स एंड एडवेंचर लिमिटेड के सीईओ मनीष सैनी ने बताया, जल्द ही उत्तराखंड में जायरो कॉप्टर सफारी शुरू की जाएगी। उन्होंने ऋषिकेश में 2013-14 में एयर सफारी शुरू की थी। यह इंडिया की पहली एयर सफारी थी, जिसमें ऋषिकेश से उत्तराखंड की छिपी हुई सुंदरता को पर्यटकों को दिखाने का कार्य शुरू हुआ था। इसी माह राज्य में जायरो कॉप्टर सेवा की शुरुआत भी की जा रही है, जो भारत और दक्षिण एशिया की पहला जायरो कॉप्टर सफारी होगी। राजस एयरो स्पोर्ट्स मसूरी के जॉर्ज एवरेस्ट से हिमालयन दर्शन हेलिकॉप्टर सेवा संचालित कर रही है।

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें