Thursday, April 18, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडउपनलकर्मियों का हल्ला बोल! घेरा सैनिक कल्याण मंत्री का घर, पूर्व सीएम...

उपनलकर्मियों का हल्ला बोल! घेरा सैनिक कल्याण मंत्री का घर, पूर्व सीएम हरीश रावत का मिला समर्थन

उपनल कर्मचारी समान कार्य समान वेतन और नियमितीकरण जैसी मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को सैकड़ों की संख्या में उपनाल कर्मचारी परेड ग्राउंड में एकत्रित हुए। इसके बाद पैदल मार्च निकालते हुए सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी के न्यू केंट रोड स्थित आवास का घेराव किया। इसी बीच सुरक्षा बल और प्रदर्शनकारियों के बीच धक्क-मुक्की भी हुई। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने अपने आवास में 1 घंटे का मौन रखा और उपनल कर्मचारियों के आंदोलन में शामिल हुए।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि उपनल कर्मचारी निरंतर कई समय से अत्याचार के शिकार हो रहे हैं और इनमें से कुछ ऐसे कर्मचारी भी होंगे जिन्होंने अपने जीवन का एक बड़ा हिस्सा उपनल कर्मी के रूप में बिता दिया है। लेकिन अभी तक उनकों सेवा सुरक्षा नहीं मिल पाई है। उन्होंने कहा कि इनका नियमितीकरण बहुत पहले हो जाना चाहिए था लेकिन सरकार उनकी मांगों को गंभीरता से नहीं ले रही है। हरीश रावत ने कहा कि राज्य की सभी महत्वपूर्ण सेवाएं इन कर्मचारियों के माध्यम से चलाई जा रही हैं लेकिन सरकार इनका संरक्षण प्रदान नहीं कर रही है और मानदेय बढ़ाने में भी टाल-मटोल कर रही है। अभिभावक होने के नाते वह इससे बहुत दुखी हैं। उन्होंने कहा कि यह कोई राजनीतिक नहीं, बल्कि सामूहिक लड़ाई है। हम सब लोगों को मिलजुल कर उनके भविष्य को सुरक्षित करना होगा। उपनल महासंघ के अध्यक्ष विनोद गोदियाल ने कहा कि सरकार जल्द से जल्द हाईकोर्ट के नियमितीकरण और समान काम के बदले समान वेतन दिए जाने के आदेश को लागू करें। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई एसएलपी को सरकार को वापस लेना चाहिए। साथ ही उन्होंने चेतावनी दी है कि हम पूरे प्रदेश में 25000 कर्मचारी हैं और 25000 कर्मचारियों के परिवार मिलकर इस सरकार को लोकसभा चुनाव में सबक सिखाएंगे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें