Thursday, April 18, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड लोकसभा चुनाव: प्रचार में भाजपा ताकत झोंकने को तैयार! तकनीक भी...

उत्तराखंड लोकसभा चुनाव: प्रचार में भाजपा ताकत झोंकने को तैयार! तकनीक भी बनेगी हथियार

मिशन-2024 के दृष्टिगत भाजपा अपने चुनाव अभियान को धार देने के लिए प्रचार को किलाबंदी मजबूत कर रही है। इंटरनेट मीडिया समेत अन्य माध्यमों से अधिक से अधिक जनों तक पहुंच बनाकर माहौल बनाया जा रहा है। साथ ही पंचायत व निकाय प्रतिनिधियों से लेकर सांसदों, विधायकों से लेकर बूथ से प्रांत तक के पार्टी पदाधिकारियों की जिम्मेदारी तय की गई है। यही नहीं राज्य में सेवा कार्यों में जुटे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के 32 आनुषांगिक संगठनों का लाभ भी भाजपा उठाने में पीछे नहीं रहेगी। सांगठनिक दृष्टि से देखें तो राज्य में भाजपा अधिक मजबूत स्थिति में नजर आती है। पार्टी ने 13 जिलों वाले इस राज्य में संगठन के कार्यों को अधिक विस्तार देने के उद्देश्य से 19 सांगठनिक जिला इकाइयां बनाई हैं। जिला, मंडल, शक्ति केंद्र और बूथ स्तर तक उसकी इकाइयां हैं, जिन्हें वह सक्रिय कर चुकी है। इसमें पन्ना प्रमुखों के साथ बूथ स्तर पर टोलियां भी गठित की गई हैं।

चुनावी दृष्टि से पन्ना प्रमुखों ने उन्हें आवंटित मतदाता सूची के पृष्ठों में अंकित मतदाताओं से संपर्क साधने का क्रम तेज कर दिया है। यही नहीं, चुनावी अभियान में कहीं कोई कमीबेशी न रहे, इसकी मानीटरिंग के लिए पूर्णकालिक कार्यकर्ताओंं की पार्टी पहले ही नियुक्ति कर चुकी है। इसके साथ ही लोकसभा चुनाव के लिए उसने गढ़वाल की तीन और कुमाऊं मंडल की दो सीटों के लिए एक-एक क्लस्टर बनाए हैं। राज्य सरकार और संगठन में समन्वय की दृष्टि से क्लस्टर प्रभारियों का जिम्मा राज्य सरकार के एक-एक मंत्री को सौंपा गया है। लोकसभा क्षेत्र स्तर पर पार्टी अपनी कोर कमेटी और चुनाव प्रबंधन समितियां गठित कर चुकी है, जबकि राज्य के 70 विधानसभा क्षेत्रों में भी प्रत्येक में कोर कमेटी व चुनाव प्रबंधन समितियों के गठन के लिए 15 मार्च तक का लक्ष्य रखा गया है।चुनाव के लिए पार्टी के सभी मोर्चों, युवा, महिला, किसान, अल्पसंख्यक, अनुसूचित जाति, जनजाति व अन्य पिछड़ा वर्ग मोर्चा की जिम्मेदारियां निर्धारित की हैं। सभी अपने-अपने कार्यों में जुट भी चुके हैं। इसके अलावा इंटरनेट मीडिया का भी पार्टी ने चुनाव प्रचार में भरपूर इस्तेमाल करने की रणनीति बनाई है। पार्टी ने बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं व जनता के एक-एक वाट्सएप ग्रुप बनाने का निश्चय किया है, जिसमें से अब तक 16 हजार सदस्य बन चुके हैं। पार्टी द्वारा निर्धारित किए जाने वाले कार्यक्रमों के क्रियान्वयन के दृष्टिगत सांगठनिक पदाधिकारियों, विधायकों के भी ग्रुप बनाए गए हैं। इस तरह की व्यवस्था की जा रही है कि किसी भी कार्यक्रम अथवा किसी भी विषय की जानकारी तत्काल पार्टीजनों तक पहुंचे।

 

 

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें