Thursday, May 30, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeअन्यविशेषः आखिर उत्तराखण्ड के जंगलों में क्यों फेंके जा रहे हैं बीज...

विशेषः आखिर उत्तराखण्ड के जंगलों में क्यों फेंके जा रहे हैं बीज बम! अधिकारियों ने सीएम को बताई बड़ी वजह, लिंक में पढ़ें क्या है पूरा मामला

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज देहरादून से वर्चुअल माध्यम से बीज बम अभियान सप्ताह का शुभारंभ किया। इस दौरान सभी जनपदों के जिलाधिकारी, जनपद स्तरीय अधिकारी, महिला समूहों, जनप्रतिनिधियों तथा स्कूली बच्चों ने अलग-अलग स्थानों में प्रतिभाग किया। वहीं मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत कुमार आर्य ने देहरादून में प्रतिभाग कर बीज बम की जानकारी दी। उन्होंने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि कई महिला समूहों को इस अभियान में जोड़ा गया है। कहा कि बीज बमों को बनाकर विभिन्न स्थानों में फेंका गया, जिसके बेहतर परिणाम देखने को मिले। साथ ही कहा कि अगर केंद्र व राज्य सरकार इस अभियान को बड़े पैमाने पर शुरू करती है तो इसके और बेहतर परिणाम हांसिल हो सकते हैं। कार्यक्रम के तहत विकास भवन सभागार में जिलाधिकारी डॉ. विजय कुमार जोगदंडे ने उपस्थित सभी लोगों को बीच बम की विस्तृत जानकारी दी।

जिलाधिकारी ने कहा कि कार्यक्रम का उद्देश्य प्रभावित हो रही जैव विविधता को संरक्षित करना तथा वन्य जीवों की खाद्य श्रृंखला को पुनर्जीवित कर वन्यजीव मानव संघर्ष में कमी लानी है। कहा कि इसमें मिट्टी और गोबर को पानी के साथ मिलाकर एक गोला बनाया जाता है तथा स्थानीय जलवायु और मौसम के अनुसार उस गोले में कुछ बीज डाल दिये जाते हैं। वहीं जिला विकास अधिकारी पुष्पेंद्र सिंह चौहान ने समस्त लोगों से अपील करते हुए कहा कि बीज बम का उपयोग अवश्य करें। कहा कि पर्यावरण संरक्षण व मानव-वन्यजीव संघर्ष को कम करने के लिए बीज बम अभियान सार्थक है। ब्लॉक प्रमुख पौड़ी दीपक खुगशाल ने कहा कि कहा कि बीज बम बनाने में सरल व सुलभ है, इसको बनाने के लिये मिट्टी, कम्पोस्ट तथा पानी को मिलाकर गोला बनाते हैं, गोले के अन्दर जलवायु के अनुसार दो बीज रख देते है। जिसे चार दिन छांव में सुखाने के बाद कहीं भी जंगल में डाल देते हैं। कहा कि अनुकूल वातावरण मिलने पर बीज बम अंकुरित हो जाता है। इस अवसर पर मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ. डीके तिवारी, एडीपीआरओ नितिन नौटियाल, वित्त समन्वयक धनंजय भट्ट, जिला शिक्षाधिकारी एसपी सिंह, प्रधानाचार्य बीसी बहुगुणा सहित महिला स्वयं सहायता उपस्थित थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें