Monday, February 26, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeअन्यकाशीपुर में हुई स्टोन क्रेशर स्वामी की हत्या का पुलिस ने किया...

काशीपुर में हुई स्टोन क्रेशर स्वामी की हत्या का पुलिस ने किया खुलासा, महिला समेत तीन आरोपी गिरफ्तार

काशीपुर में हुई स्टोन क्रेशर स्वामी की हत्या मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया हैं।
गौरतलब हो की बीते 13 अक्टूबर की सुबह ग्राम जुड़का कुंडेश्वरी निवासी स्टोन क्रेशर स्वामी महल सिंह अपने फार्म हाउस पर बैठकर अखबार पढ़ रहे थे।
की तभी दो नकाबपोश अज्ञात शूटरों ने ताबड़तोड़ फायरिंग करते हुए उन्हें मौत के घाट उतार दिया था, घटना के बाद मृतक के भतीजे कर्मपाल सिंह ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ कुंडेश्वरी चौकी में घटना की प्राथमिकी दर्ज कराई थी।
घटना को गंभीरता से लेते हुए एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने इस मामले में तत्काल निरीक्षण कर हत्या का अनावरण करने के लिए अभय सिंह पुलिस अधीक्षक अपराध रुद्रपुर, चंद्र मोहन सिंह पुलिस अधीक्षक काशीपुर एवं सीओ वंदना वर्मा को टीम के साथ लगाया गया। जहा से पुलिस ने जांच शुरू की।

वहीं आज मंगलवार को कोतवाली परिसर में डीआईजी नीलेश आनंद भरणे और एसएसपी मंजूनाथ टीसी ने घटना का संयुक्त रुप से खुलासा करते हुए बताया कि क्रेशर स्वामी की हत्या मामले में पुलिस ने प्रभजोत सिंह उर्फ पन्नू निवासी गुलजारपुर कुंडेश्वरी को गिरफ्तार किया हैं, अभियुक्त पन्नू वर्ष 2015 से 2020 तक एकता स्टोन क्रेशर पर बतौर मुंशी का कार्य करता था।
पुलिस ने खुलासा करते हुए बताया की स्टोन क्रेशर में मृतक महल सिंह, सुखवंत सिंह व उसका भाई हरजीत सिंह उर्फ काले व जगप्रीत सिंह पाटनर थे।
लेकिन करीब 2 वर्ष से हरजीत काले , मृतक महल सिंह व सुखवंत सिंह के बीच पार्टनरशिप को लेकर विवाद रहने लगा। इसी के चलते इन तीनों व्यक्तियों ने महल सिंह को ठिकाने लगाने के लिए बाहर से दो शूटरों को बुलवाया और महल सिंह की हत्या करवा दी।
जिसके बाद पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर प्रभजोत सिंह निवासी गुलजारपुर कुंडेश्वरी, शूटरों को पनाह देने वाली रजविंदर कौर पत्नी तरसेम सिंह निवासी गुलजारपुर कुंडेश्वरी और सुखदेव सिंह उर्फ सेवी पुत्र पीतम सिंह को गिरफ्तार किया हैं। वही पुलिस ने आरोपियों के पास से 30 कैलिबर की एक पिस्टल आठ जिंदा व दो कारतूस खाली खोखा बरामद किए हैं।
पुलिस ने तीनों को गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया है। वही पुलिस दोनों शूटरों की तलाश में जुट गई हैं, जिन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

डीआईजी ने घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को ₹50000 रुपए इनाम देने की घोषणा की है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें