Wednesday, July 17, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeराष्ट्रीयसूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की यूट्यूब चैनलों पर कार्रवाई, फर्जी खबरे चलाने...

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की यूट्यूब चैनलों पर कार्रवाई, फर्जी खबरे चलाने पर 6 चैनल ब्लॉक

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय की पीआईबी फैक्ट चेक यूनिट (एफसीयू) ने छह यूट्यूब चैनलों का भंडाफोड़ किया, जो भारत में समन्वित तरीके से काम कर रहे थे और गलत जानकारी फैला रहे थे। फैक्ट चेक यूनिट ने इन चैनलों द्वारा फैलाई जा रही फर्जी खबरों का मुकाबला करने के लिए 100 से ज्यादा फैक्ट चेक वाले छह अलग-अलग ट्विटर थ्रेड जारी किए। सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के तहत यूनिट की ओर से यह दूसरी ऐसी कार्रवाई है जहां पूरे चैनलों का भंडाफोड़ किया गया है। छह यूट्यूब चैनल समन्वित रूप से गलत सूचना के नेटवर्क के हिस्से के रूप में काम करते पाए गए, जिनके लगभग 20 लाख ग्राहक थे और उनके वीडियो को 51 करोड़ से अधिक बार देखा जा चुका है।
इस चैनलों पर हुई कार्रवाई –
यूट्यूब चैनल का नाम नेशन टीवी जिसके कुल 5.57 लाख सब्सक्राइबर थे, संवाद टीवी 10.9 लाख सबस्क्राइबर, सरोकार टीवी 21.1 हजार सबस्क्राइबर, नेशन 24 25.4 हजार सबस्क्राइबर, स्वर्णिम भारत 6.07 हजार सबस्क्राइबर व संवाद समाचार 3.48 लाख सबस्क्राइबर इन सब पर कार्रवाई की गई हैं।
पीआईबी फैक्ट चेक यूनिट द्वारा उजागर किए गए यूट्यूब चैनलों ने चुनाव, भारत के सर्वोच्च न्यायालय और भारत की संसद में कार्यवाही, भारत सरकार के कामकाज आदि के बारे में फर्जी खबरें फैलाईं। उदाहरणों में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों पर प्रतिबंध के बारे में झूठे दावे और झूठे बयान शामिल हैं। भारत के राष्ट्रपति, भारत के मुख्य न्यायाधीश सहित वरिष्ठ संवैधानिक पदाधिकारियों को जिम्मेदार ठहराया।

चैनल एक नकली समाचार अर्थव्यवस्था का हिस्सा हैं जो नकली समाचारों से कमाई पर पनपती है। चैनल नकली, क्लिकबेट और सनसनीखेज थंबनेल एवं टीवी चैनलों के टेलीविजन समाचार एंकरों की छवियों का उपयोग दर्शकों को यह विश्वास दिलाने के लिए करते हैं कि समाचार प्रामाणिक थे और उनके द्वारा प्रकाशित वीडियो से कमाई करने के लिए उनके चैनलों पर व्यूज जुटाते हैं।

पीआईबी फैक्ट चेक यूनिट की यह इस तरह की दूसरी कार्रवाई है। इससे पहले एक बड़ी कार्रवाई में, 20 दिसंबर, 2022 को यूनिट ने फर्जी समाचार फैलाने वाले तीन चैनलों का पर्दाफाश किया था।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें