Sunday, May 26, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homefestivalआखिर क्यों मनाया जाता है रखी का त्योहार????

आखिर क्यों मनाया जाता है रखी का त्योहार????

रक्षाबंधन, एक परंपरागत भारतीय त्योहार है जो भाई और बहन के प्यार और आपसी संबंधों की महत्वपूर्णीयता को मनाने का अवसर प्रदान करता है। यह पर्व पूरे देश में खासतर से हिन्दू समुदाय में मनाया जाता है, लेकिन इसका सबको एकसाथ जोड़ने और प्यार और सम्मान की भावना को बढ़ावा देने का प्रसिद्धी से पर्व है।

रक्षाबंधन का शब्दिक अर्थ होता है “रक्षा” यानी सुरक्षा और “बंधन” यानी बांधने का काम। इस दिन बहन अपने भाई की कलाई पर एक धागा बांधती है और भाई अपनी बहन को उपहार देते हैं। यह धागा एक प्रतीक होता है जो बहन की प्रेम और सुरक्षा की भावना को दर्शाता है।

इस पर्व की महत्वपूर्ण कहानियाँ हमें हिन्दू पुराणों और इतिहास से मिलती हैं। एक प्रमुख कथा के अनुसार, दूरदर्शन और वेष्णु के द्वारा, देवराज इंद्र द्वारा असुर राजा बलि का वध किया गया था। यह प्रथा राक्षस और देवी सुरपणखा के बीच विवाद से शुरू हुई थी। इंद्र ने देवी सुरपणखा की मदद करने के लिए अपने बहन देवी लक्ष्मी की सर्वविद्रावणी प्राणियों के रूप में उपस्थिति को बचाने के लिए अपने भाई देवराज इंद्र के पास गई थी। इसके बाद, इंद्र ने बलि का वध कर दिया और सुरपणखा को उसके बेहतर द्वारा अधिक प्राथमिकता दी। इस परंपरागत कथा के आधार पर, भाई-बहन के आपसी संबंध का महत्व प्रमोट किया जाता है और रक्षाबंधन के रूप में मनाया जाता है।

भारतीय समाज में, रक्षाबंधन का महत्वपूर्ण स्थान है क्योंकि यह भाई-बहन के प्यार और सम्मान को दर्शाता है। इस दिन भाई अपनी बहन के प्रति अपनी सर्वांगीण सुरक्षा और समर्थन की प्रतिज्ञा करते हैं और बहन भी अपने भाई के लिए उनकी कल्याण की कामना करती हैं। यह त्योहार भाई-बहन के आपसी बंधन को मजबूती से बांधता है और उनके प्यार की मिसाल प्रस्तुत करता है।इसके साथ ही, रक्षाबंधन समाज में समरसता, भाईचारा, और समझौता की भावना को बढ़ावा देता है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें