Thursday, May 30, 2024
No menu items!
Google search engine
- Advertisement -spot_imgspot_img
Homeअपराधदिव्यांग बच्चे के साथ अमानवीय व्यवहार, सरकारी दावों की खुली कलई 

दिव्यांग बच्चे के साथ अमानवीय व्यवहार, सरकारी दावों की खुली कलई 

नैनीताल। एक तरफ सरकारें विकलांग और दिव्यांग बच्चों के लिए समय-समय पर विभिन्न योजनाओं को धरातल पर उतारती हैं और ऐसे बच्चों को बेहतर शिक्षा मिलने के दावे किए जाते हैं। वहीं दूसरी तरफ धरातल पर हकीकत कुछ और ही सामने आती है। दिव्यांग बच्चों के साथ आज भी कई जगहों पर न केवल भेदभाव होता है बल्कि उनके साथ दुर्व्यवहार भी किया जाता है।

ताजा मामला रामनगर के यूएसआर हिन्दू समिति दिव्यांग स्कूल से सामने आया हैं। यहां बच्चों के साथ मारपीट और दुर्व्यवहार करने का आरोप लगा है। मामला प्रशासनिक स्तर से लेकर सीएम हेल्पलाइन तक पहुंच चुका है, हांलाकि अभी तक प्रशासनिक स्तर पर इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। दरअसल हल्द्वानी, काटगोदाम निवासी चंदन सिंह और हल्द्वानी की रहने वाली हेमा परगाई ने सीएम हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज कराई है कि उन्होंने अपने बच्चों को रामनगर स्थित यूएसआर हिन्दू समिति दिव्यांग स्कूल में भेजा था, और जब रक्षाबंधन पर उनके परिजन बच्चों से मिलने गए तो बच्चों के शरीर पर चोट के निशान थे। चंदन सिंह ने बताया कि उनकी बेटी महिमा गौरा के शरीर पर निशान मिले, जिसके बाद वह अपनी बच्ची को वापस ले आए। वहीं हेमा परगाई का कहना है कि उनके बेटे हर्षित के साथ बहुत मारपीट की गई है, जिसपर उन्होंने बेटे का मेडिकल भी कराया है। हेमा परगाई के अनुसार उन्होंने जिलाधिकारी को पत्र लिखने के साथ ही सीएम हेल्पलाइन पोर्टल पर भी मामले को उठाया, लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

उधर इस मामले में अब समाजसेवी हेमंत गोनिया भी आगे आए हैं। उन्होंने मामले को लेकर मुख्यमंत्री को पत्र भेजने के साथ ही सीएम हेल्पलाइन पर भी लिखित शिकायत दर्ज कराई है। यही नहीं उन्होंने पर्यटन रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट को भी मामले से अवगत कराते हुए दिव्यांग बच्चों को न्याय दिलाने और ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही करने की मांग की है जिन्होंने बच्चों के साथ मारपीट की है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें